RCB को WPL 2024 का चैंपियन बनाने में इन दो खिलाड़ियों का है सबसे जादा योगदान

WPL 2024
Spread the love

WPL 2024: 17 मार्च को WPL (women premier league) का फाइनल मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स (delhi capitals) और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (royal challengers bangalore) के बीच अरुण जेटली स्टेडियम में खेला गया. उस फाइनल मुकाबले को 3 गेंद शेष रहते हुए आरसीबी ने दिल्ली को 8 विकेट से रौंद कर के WPL (women premier league) के दूसरे सीजन का किताब अपने नाम कर इतिहास रच दिया है 17 साल के आईपीएल इतिहास में ऐसा पहली बार देखने को मिला है. की आरसीबी किसी भी टूर्नामेंट की चैंपियन बनी हो इससे पहले वह टीम चाहे मेंस आईपीएल हो या वूमेन’ इस टीम को पहली बार चैंपियन बनते देखा गया है.

आरसीबी की टीम को चैंपियन बनाने में इन दो खिलाड़ियों का सबसे ज्यादा योगदान रहा है. जिसमें पहला नाम टीम की कप्तान स्मृति मंधना (smriti mandhana) का आता है उसके बाद ऑफ ब्रेक गेंदबाज श्रेयंका पाटिल (shreyanka patil) इस लिस्ट में सामिल है उनकी शानदार गेंदबाजी की बदौलत ही दिल्ली कैपिटल्स (delhi capitals) ज्यादा स्कोर तक नहीं पहुच पाई. अगर गलती से भी कैपिटल्स 150 का आकड़ा छु लेते तो फिर आरसीबी के लिए फाइनल जितना उतना आसान नहीं होता. 

 स्मृति मंधना

आरसीबी टीम की कप्तान स्मृति मंधाना (smriti mandhana) पूरे लीग में अच्छी कप्तानी करते नजर आई हैं जिसकी बदौलत उनकी टीम फाइनल तक भी पहुंची और ख़िताब उठाने में भी कामयाब हुई है. उनके इस कप्तानी को देखते हुए आरसीबी के फैंस मंधाना का शुक्रिया अदा कर रहे हैं मंधना फाइनल मुकाबले में ताबातोर 30 रन की पारी खेलकर टीम के ऊपर से थोड़ा बहुत दबाव कम किए. जिसके बाद आने वाले बल्लेबाजों पर कम दबाव देखने को मिला स्मृति मंधाना (smriti mandhana) के इस अचीवमेंट को उनके फैंस बहुत ही ज्यादा सहराना कर रहे हैं.

ये भी पढ़े: IPl 2024 में सबसे धासु स्पीनर अटैक है इस टीम के पास, इस साल चैंपियन बनने से कोइ रोक भी नहीं सकता है

 श्रेयंका पाटील

21 साल की दाएं हाथ के ऑफ ब्रेक गेंदबाज श्रेयंका पाटील (shreyanka patil) साल 2023 में भारतीय टीम के तरफ से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पर्दापन किया था. वह खिलाड़ी दुनिया भर के लीग में भी खेलते नजर आ चुकी है पाटिल का WPL (women premier league) के फाइनल मुकाबले में शानदार प्रदर्शन देखने को मिला है. फ़ाइनल मुकाबले में उनके शानदार गेंदबाजी की बदौलत आरसीबी को ज्यादा रन का लक्ष्य नहीं मिला जिसके कारन टीम आसानी से उस लक्ष्य को प्राप्त कर इतिहास में पहली बार WPL (women premier league) ख़िताब अपने नाम कर पाई है.

अगर उनके प्रदर्शन की बात करें तो पाटिल ने अपने चार ओवर के स्पैल में 12 रन देकर चार बहुमूल्य विकेट अपने नाम किए आरसीबी की तरफ से दिल्ली कैपिटल्स (delhi capitals) को पहला झटका देने वाले वही गेंदबाज है. बने उन्होंने कैपिटल्स के तरफ से शानदार बल्लेबाजी कर रही मेंग लैंगिंग (meng langing) को अपना अपना और टीम का भी पहला शिकार बनाया जिसके बाद से श्रेयंका पाटील (shreyanka patil) दिल्ली को लगातार झटके पर झटते देते गई जिससे दिल्ली टीम बैक फुट पर चली गई. उनके द्वारा दिए गए झटके से दिल्ली खेल में दोबारा उभर नहीं पाया और टीम को एक बुरे हार का सामना करना पड़ा.

ऐसा रहा मैच शमिकरण 

दिल्ली कैपिटल्स (delhi capitals) के कप्तान टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन उनका यह फैसला बहुत ही घटिया साबित हुआ. और पूरी टीम 18.3 ओवर में 113 के स्कोर पर ऑल आउट हो गई दिल्ली के तरफ से सर्वाधिक 44 रन की परी शेफाली वर्मा (shefali varma)ने खेली और अपनी टीम की तरफ ओपनिंग करने आई मेंग लैंगिक (meng lainging) ने 23 रन जोड़े बाकी के बच्चे 8 बल्लेबाज ने दहाई अंक का आकर भी पार नहीं कर सकी.  

अगर बेंगलुरु की गेंदबाजी का बात किया जाए तो श्रेयंका पाटील (shreyanka patil) ने चार विकेट अपने नाम की जबकि सोफी मोगिलिक्स (sofi mogilix) ने 3 और सोभना आशा (sobhana asha) ने 2  विकेट अपने नाम किया. अगर इस टीम की बल्लेबाजी की बात करे तो ओपनर बल्लेबाज स्मृति मंधाना (smriti mandhna) ने 39 गेंदों का सामना करते हुए 31 रन जबकि उनके साथ ओपनिंग करने आई सोफी डिवाइन (sofi divaen) ने 32 रन लगाकर टीम को एक मजबूत स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया उन दोनों के आउट होने के बाद आरसीबी के खेमे में कोई दवाब देखने को नहीं मिला. और एलिस पेरी (aelis peri) 35 और रिचा घोष (Richa ghosh) 17 रन बनाकर अपनी टीम को ख़िताब दिलाकर नवाद रहे.

ये भी पढ़े: Hardik pandya: आईपीएल शुरू होने से पहले हार्दिक पंडया का पकरा गया झूट, रोहित शर्मा की जगह अभी से ही कर दिये है क्रेडिट लेना शुरू

Scroll to Top