सन्यास लेते ही इस भरतीय खिलाड़ी का फूटा गुस्सा, कैप्टन कुल पर लगाय गंभीर आरोप तो वही रोहित और विराट पर साधा निशाना

सन्यास लेते ही इस भरतीय खिलाड़ी का फूटा गुस्सा, कैप्टन कुल पर लगाय गंभीर आरोप तो वही रोहित और विराट पर साधा निशाना
Spread the love

भारतीय क्रिकेट टीम में जगह बनाने के लिए खिलाड़ियों को काफी मस्कत करनी पड़ती है. साथ ही टीम में बने रहने के लिए शानदार प्रदर्शन करना पड़ता है. तब जाकर कुछ खिलाड़ी लंबे समय तक टीम में टिक पाते हैं आथवा कुछ ऐसे भी खिलाड़ी होते हैं जिनके अंदर टैलेंट की कोई कमी नहीं होती है. लेकिन उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने का काम अवसर मिलता है जिनका खामियाजा वैसे खिलाड़ी को बहुत ही बुरे तरीके से भुगतना पड़ता है. अंतरराष्ट्रीय मैच में खेलने के हकदार कुछ खिलाड़ी को टीम इंडिया से बाहर बैठा दिया जाता हैं ऐसा हम नहीं कह रहे हैं. बल्कि टीम इंडिया के एक ऐसे खिलाड़ी का कहना है जो मौजूदा समय में बंगाल की तरफ से घरेलू क्रिकेट से सन्यास का ऐलान किए हैं.

वह और कोई खिलाड़ी नहीं बल्कि मनोज तिवारी है पश्चिम बंगाल की तरफ से अपना आखिरी मैच खेलने वाले मनोज मीडिया से बात करते हुए कैप्टन कूल पर गंभीर आरोप लगाए हैं. वहीं रोहित और विराट पर सीधे निशाना साधते हुये अपने अंदर की भड़ास को मीडिया के सामने रखा है मनोज का कहना है. कि जब मैं महेंद्र सिंह धोनी से मिलूंगा तो मैं उनसे एक सवाल पूछूंगा कि आखिर शतक मारने के बावजूद मुझे प्लेइंग इलेवन से क्यों ड्राप किया गया इस खबर को विस्तार से जानने के लिए बने रहिए हमारे साथ.

मनोज तिवारी ने महेंद्र सिंह धोनी पर लगाए गंभीर आरोप

 

भारतीय टीम के दाएं हाथ के बल्लेबाज मनोज तिवारी मौजूदा समय में घरेलू क्रिकेट से सन्यास का ऐलान किए हैं. उन्होंने संन्यास का ऐलान करते हुए एक मीडिया चैनल से बात करने के दौरान टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और कैप्टन कूल कहे जाने वाले हैं. महेंद्र सिंह धोनी पर गंभीर आरोप लगाया है. और कहा है कि जब मैं महेंद्र सिंह धोनी से मिलूंगा तो उनसे एक सवाल पूछूंगा की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक मारने के बावजूद और मैन ऑफ द मैथ का पुरस्कार पाने के बाद भी मुझे प्लेइंग इलेवन से क्यों ड्रॉप किया गया. जबकि उस ऑस्ट्रेलियाई  सीरीज के दौरान टीम इंडिया के लगभग खिलाड़ी संघर्ष करते नजर आए थे. जबकि मैंने एक शतक भी मारा था इसके बावजूद भी मुझे टीम इंडिया से बाहर क्यों बैठाया गया. 

मनोज तिवारी टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा और दिग्गज खिलाड़ी विराट कोहली पर निशान साधते हुए कहा है. कि जब मैं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक मारा था. उस सीरीज में रोहित और विराट के बल्ले से रन नहीं आ रहे थे इसके बावजूद भी उनको हर मैच के प्लेईंग 11 में शामिल किया गया. जबकि मुझे उस मैच के बाद से प्लेइंग 11 से ड्रॉप कर दिया गया था मुझमें भी रोहित और विराट जैसे खिलाड़ी बनने का काबिलियत था लेकिन टीम इंडिया के चयनकर्ताओ ने मुझे नजरअंदाज करते गए.

ये भी पढ़े: IPL 2024 शुरू होने से पहले केकेआर को लगा तगरा झटका, इस इंग्लिश खिलाड़ी ने छोरा टीम का साथ

2008 में किए थे अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत

मनोज तिवारी साल 2008 में अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत किए थे जबकि 2015 में आखरी बार टीम इंडिया की जर्सी में नजर आए थे मनोज ने अब तक टीम इंडिया के लिए 12 वनडे मुकाबलले खेलते हुए 26.9 की औसत से 287 रन बनाए हैं. जिस दौरान उनके बल्ले से एक शतक और एक अर्धशतक निकला है. मनोज टीम इंडिया के लिए सिर्फ 3 T20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जिनमें उनके बल्ले से 15 रन निकले हैं उन्होंने साल 2012 में आखरी बार T20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले थे.

बंगाल की तरफ से खेलेते आये है घरेलू क्रिकेट

बंगाल के हावड़ा शहर से ताल्लुक रखने वाले मनोज तिवारी साल 2004 में बंगाल की तरफ से घरेलू क्रिकेट में पर्दापन किया था. उन्होंने अब तक 148 फर्स्ट क्लास मुकाबले में 47.86 औसत से 10195 रन बनाए हैं जिस दौरान उनके बल्ले से 30 शतक जबकि 45 अर्धशतक निकले हैं.

2008 में दिल्ली की तरफ से खेले थे पहली बार आईपीएल

मनोज तिवारी पहली साल 2008 में दिल्ली डेयरडेविल्स के तरफ से आईपीएल खेल थे. उसके बाद कई दुसरे टीम के तरफ से भी खेलते नजर आए हैं. मनोज 98 आईपीएल मुकाबला खेलते हुए 28.72 की औसत और 116.97 की स्ट्राइक रेट से 1695 रन बनाया है जिस दौरान उनके बल्ले 7 अर्धशतक निकले हैं आईपीएल लीग में 75 रन उनका सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर है.

ये भी पढ़े: BCCI से मनमानी करना इस खिलाड़ी को परा महंगा, आगमी टी20 वर्ल्ड कप 2024 के रास्ते हो सकते है बंद

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Scroll to Top